UPSC IAS Mains 2021: Hindi Literature Optional Syllabus

 

UPSC IAS Mains 2021: Hindi Literature Optional Syllabus

UPSC:  यूपीएससी यूपीएससी सिविल सेवा मेन्स परीक्षा में हिंदी को वैकल्पिक विषय के रूप में पेश करता है।  हिंदी साहित्य वैकल्पिक पाठ्यक्रम में उपमहाद्वीप में प्रयुक्त प्राचीन लिपियों से देवनागरी लिपि का विकास, स्वतंत्रता आंदोलन के दौरान देश की भाषा के रूप में हिंदी का विकास और हिंदी व्याकरण की संपूर्णता शामिल है।  यह हिंदी में विभिन्न कार्यों की साहित्यिक आलोचना और कई प्रमुख लेखकों और उनके कार्यों पर भी केंद्रित है।  हिंदी की कई बोलियाँ हैं, जिनका साहित्य यूपीएससी पाठ्यक्रम में शामिल है।  एक मजबूत हिंदी साहित्य शैक्षणिक पृष्ठभूमि वाले और उपन्यास और कविता संग्रह पढ़ने में रुचि रखने वाले उम्मीदवारों को हिंदी साहित्य को वैकल्पिक के रूप में लेना चाहिए।  हिन्दी साहित्य के दोनों वैकल्पिक प्रश्नपत्र हिन्दी भाषा में ही हल करने चाहिए।


 1. हिन्‍दी भाषा और नागरी लिपि का इतिहास।

 अपभ्रंश, अवहट्टा और प्रारंभिक हिंदी के व्याकरणिक और अनुप्रयुक्त रूप।

 मध्यकाल में ब्रज और अवधी का साहित्यिक भाषा के रूप में विकास।

 सिद्ध-नाथ साहित्य, खुसेरो, संत साहित्य, रहीम आदि और दखनी हिंदी में खड़ी-बोली का प्रारंभिक रूप।

 19वीं शताब्दी के दौरान खारी-बोली और नागरी लिपि का विकास।

 हिंदी भाषा और नागरी लिपि का मानकीकरण।


 स्वतंत्रता आंदोलन के दौरान हिंदी को राष्ट्रभाषा के रूप में विकसित करना।

 भारत संघ की राष्ट्रीय भाषा के रूप में हिंदी का विकास।

 हिन्दी भाषा का वैज्ञानिक एवं तकनीकी विकास।

 हिंदी की प्रमुख बोलियाँ और उनका अंतर्संबंध।

 नागरी लिपि की मुख्य विशेषताएं और इसके सुधार और हिंदी के मानक रूप के प्रयास।

 मानक हिंदी की व्याकरणिक संरचना।

Also visit here :---

1. UPSC optional syllabus for zoology

2. UPSC optional syllabus for hindi literature

3. UPSC optional syllabus for sociology

4. UPSC optional syllabus for History

5. How to choose optional in UPSC

6. Best optional subject in UPSC

7. UPSC optional syllabus for geography



 खंड बी:---

 2. हिंदी साहित्य का इतिहास।

 हिंदी साहित्य की प्रासंगिकता और महत्व और हिंदी साहित्य का इतिहास लिखने की परंपरा।

 हिन्दी साहित्य के इतिहास के निम्नलिखित चार कालखंडों की साहित्यिक प्रवृत्तियां।

 ए: आदिकल-सिद्ध, नाथ और रासो साहित्य। प्रमुख कवि-चंदवरदाई, खुसरो, हेमचंद्र, विद्यापति।

 बी: भक्तिकाल-संत काव्याधारा, सूफी काव्याधारा, कृष्ण भक्तिधारा और राम भक्तिधारा।

 प्रमुख कवि-कबीर, जायसी, सूर और तुलसी।

 सी: रीतिकाल-ऋतिकव्य, रीतिबधाकाव्य और रीति मुक्ता काव्य।

 प्रमुख कवि-केशव, बिहारी, पद्माकर और घनानंद।

 डी: आधुनिक कली


 1. पुनर्जागरण, गद्य का विकास, भारतेंदु मंडल।

 2. प्रमुख लेखक: भारतेंदु, बाल कृष्ण भट्ट और प्रताप नारायण मिश्रा।

 3. आधुनिक हिंदी काव्य की प्रमुख प्रवृत्तियाँ : छायावाद, प्रगतिवाद, प्रयोगवाद, नई कविता, नवगीत और समकालीन कविता और जनवादी कविता।

 प्रमुख कवि: मैथिली शरण गुप्त, प्रसाद, निराला, महादेवी, दिनकर, अज्ञेय, मुक्तिबोध, नागार्जुन।


 

Hindi Literature Optional Syllabus


 3. कथा साहित्य:

 उपन्यास और यथार्थवाद

 हिंदी उपन्यासों की उत्पत्ति और विकास।

 प्रमुख उपन्यासकार: प्रेमचंद, जैनेंद्र, यशपाल, रेणु और भीष्म साहनी।

 हिंदी लघुकथा की उत्पत्ति और विकास।

 प्रमुख लघु कथाकार: प्रेमचंद, प्रसाद, अज्ञेय, मोहन राकेश और कृष्णा शोबती।


 4. नाटक और रंगमंच

 हिंदी नाटक की उत्पत्ति और विकास।

 प्रमुख नाटककार: भारतेंदु, प्रसाद, जगदीश चंद्र माथुर, राम कुमार वर्मा, मोहन राकेश।

 हिन्दी रंगमंच का विकास।


 5. आलोचना

 हिंदी आलोचना की उत्पत्ति और विकास: सैधांतिक, व्यावरिक, प्रगतिवादी, मनोविश्लेशनवादी और नई आलोचना।

 प्रमुख आलोचक: रामचंद्र शुक्ल, हजारी प्रसाद द्विवेदी, रामविलास शर्मा और नागेंद्र।

 6. हिंदी गद्य के अन्य रूप-ललित बंधन, रेखाचित्र, संस्कार, यात्रा-वृत्तांत।

 हिंदी साहित्य पेपर- II के लिए यूपीएससी वैकल्पिक पाठ्यक्रम

 इस परीक्षा पत्र में निर्धारित पाठों को प्रत्यक्ष रूप से पढ़ने की आवश्यकता होगी और यह उम्मीदवारों की आलोचनात्मक क्षमता का परीक्षण करेगा।

 खंड एक :---

 कबीर: कबीर ग्रंथावली, एड, श्याम सुंदर दास (पहली सौ सखियाँ।)

 सूरदास : भ्रामर गिट्सर, एड.  रामचंद्र शुक्ल (पहले सौ पद)

 तुलसीदास: रामचरित मानस (सुंदर कांड) कवितावली (उत्तर कांड)।

 जायसी: पद्मावत एड.  श्याम सुंदर दास (सिंहल द्विप खंड और नागमतिवियोग खंड)

 बिहारी : बिहारी रत्नाकर एड.  जगन्नाथ प्रसाद रत्नाकर (पहले 100 दोहा)

 मैथिली शरण गुप्ता : भारत भारती

 प्रसाद: कामायनी (चिंता और शारदा सर्ग)

 निराला : राग-विराग, एड.  रामविलास शर्मा (राम की शक्ति पूजा और कुकुरमुत्ता)।

 दिनकर : कुरुक्षेत्र

 अज्ञेय : आंगन के पर द्वार (आध्यात्म वीणा)

 मुक्तिबोथ: ब्रह्म राक्षस

 नागार्जुन: बादल को घिरा देखा है, अकाल के बाद, हरिजन गाथा।

Hindi Literature Optional Syllabus

 खंड बी:------

 भारतेंदु: भारत दुर्दशा

 मोहन राकेश : आषाढ़ का एक दिन

 रामचंद्र शुक्ल : चिंतामणि (भाग १)

 (कविता क्या है) श्रद्धा और भक्ति)

 डॉ सत्येंद्र: निबंध निलय-बाल कृष्ण भट्ट, प्रेमचंद, गुलाब राय, हजारी प्रसाद द्विवेदी, रामविलास शर्मा, अज्ञेय, कुबेर नाथ राय।

 प्रेमचंद: गोदान, प्रेमचंद की सर्वश्रेष्ठ कहानियां, एड.  अमृत ​​राय, मंजूषा - प्रेमचंद की सर्वश्रेष्ठ कहानियां, एड।  

अमृत ​​रायप्र साद : स्कन्दगुप्त

 यशपाल : दिव्या

 फणीश्वर नाथ रेणु : मैला आंचल

 मन्नू भंडारी : महाभोजी

 राजेंद्र यादव : एक दुनिया समानान्तर (सभी कहानियाँ)


 यह ध्यान दिया जाना चाहिए कि हिंदी साहित्य के वैकल्पिक पेपर के सभी उत्तर हिंदी भाषा में ही दिए जाने चाहिए।  वैकल्पिक विषय का स्कोर मेन्स मार्कशीट में एक महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है क्योंकि इस पेपर में प्राप्त अंक उम्मीदवारों को उनके समग्र मेन्स स्कोर को बढ़ाने में मदद करते हैं।

Comments

Popular posts

Tulsidas Ke Pad Class 12

KADBAK KA ARTH // कड़बक कविता का अर्थ

Surdas ke pad class 12

Bihar Board Class 12th Bihar Board Class 12th Hindi Book Solutions गद्य Chapter 2 | उसने कहा था

Bihar Board Class 12th Hindi Book Solutions गद्य Chapter 1 | बातचीत