Posts

Showing posts with the label BSEB Hindi

सूरदास की जीवनी | Biography of Surdas in hindi

 सूरदास की जीवनी | Biography of Surdas  सूरदास का जन्म 1478 ई। में रुनकता नामक गाँव में हुआ था।  यह गाँव मथुरा-आगरा मार्ग के किनारे स्थित है।  कुछ विद्वानों का मानना ​​है कि सूर का जन्म सिही नामक गाँव में एक गरीब सारस्वत ब्राह्मण परिवार में हुआ था।  बाद में, वे आगरा और मथुरा के बीच गौघाट पर रहने आए।  सूरदास के पिता रामदास एक गायक थे।  सूरदास के जन्म के बारे में मतभेद है।  प्रारंभ में, सूरदास आगरा के पास गायघाट में रहते थे।  वहाँ रहते हुए वे श्री वल्लभाचार्य से मिले और उनके शिष्य बन गए।  वल्लभाचार्य ने उन्हें पुष्टिमार्ग में दीक्षा दी और उन्हें कृष्णलीला का पद गाने का आदेश दिया।  1570 ई। में गोवर्धन के पास परसौली गाँव में सूरदास की मृत्यु हो गई।  सूरदास नाम उन भक्त कवियों में सर्वोपरि है जो कृष्ण भक्ति की अजस्र धारा प्रवाहित करते हैं।  हिंदी साहित्य में, भगवान कृष्ण के अनन्य उपासक और ब्रजभाषा के सर्वश्रेष्ठ कवि महात्मा सूरदास को हिंदी साहित्य का सूर्य माना जाता है।  हिंदी कविता में कामिनी की अनूठी कविता ने हिंदी भाषा को समृद्ध बनाने में योगदान दिया है।  सू

Bihar Board Class 12th Hindi Book Solutions गद्य Chapter 7

Bihar Board Class 12th Hindi Book Solutions गद्य Chapter 7 अभ्यास:--  प्रश्न1. पंपारन क्षेत्र में बाढ़ की प्रचंडता के बढ़ने के क्या कारण है?  प्रकोप मानवीय स्वार्थपरता के कारण ही बड़े चंपारन क्षेत्र में भी बाइकी प्रचंडता फेबढ़ने में मनुष्य की हम भूमिका तो है।लसात सौ वर्ष पूर्व चंपारन क्षेत्रचने जंगलों से घिरा हुआ था तथा ये जंमन चंपारनगंगा तक फैले एपीर - धीरे नीम जंगलों को काटते गए । जंगलों में वृक्षों की जड़ें पानी को रोके रखती थी । किन्तु जंगलों के कटने के बाद पानी विस्तृत -भाग फैलना शुरू किया । इन्हीं सब कारणों से चंपारन में नाटकी प्रचंडता बढ़ती गई ।    प्रश्न 2. इतिहास की कीमिआई प्रक्रिया का क्या आशय है   उतर - कीमिआई प्रक्रिया में पारे को कुछ विलेपनों के साथ उच्च ताप पर गर्म करके सोने में बदला जाता है । ने मिल्कुल भिन्न पदार्थ का रूप धारण कर लेता है , उसी प्रकार सुदूर दक्षिण की संस्कृति और रक्त इस प्रदेश की निधि बनकर अन्य संस्कृति का निर्माण कर गए । यही इतिहास की कीमिआई प्रक्रिया है ।  Bihar Board Class 12th Hindi Book Solutions पद्य :-- 1.  कड़बक 2.  पद सूरदास 3.  पद तुलसीदा

Bihar Board Class 12th Hindi Book Solutions गद्य Chapter 6

Bihar Board Class 12th Hindi Book Solutions गद्य Chapter 6 अभ्यास:-- प्रश्न 1. विद्यार्थियों को राजनीति में भाग क्यों लेना चाहिए ?  उत्तर - विद्यार्थी देश के कर्णधार होते हैं । आने वाले समय में उन्हें ही देश की बागडोर अपने अथ में लेनी है अगर वे भाज से ही राजनीति में भाग नहीं लेंगे तो आने वाले समय में देश को भली - भांति नहीं संभाल पारगे । देश के उचित विकास न उसे सही दिशा में ले जाने के लिए विद्यार्थियों का राजनीति में भाग लेना बहुत आवश्यक है ।  Bihar Board Class 12th Hindi Book Solutions पद्य :-- 1.  कड़बक 2.  पद सूरदास 3.  पद तुलसीदास 4. छप्पय   5. कविप्त   6.  तुमुल कोलाहल कलह में   7.  पुत्र वियोग   8. उषा 10. अधिनायक   11. प्यारे नन्हें बेटे 12.  हार जित 13.  गांव का घर   प्रश्न 2.भगत सिंह को विद्यार्थियों से क्या अपेक्षाएं हैं ?  उत्तर - भगत सिंह के विद्यार्थियों से काफी अपेक्षाएँ हैं । वे कहते हैं कि भारत को ऐसे देशसेवकों की आवश्यकता है जो देश पर तन - मन - धन अर्पित कर सकें तथा अपना सारा जीवन देश की आज़ादी के लिए या विकास के लिए न्योछावर कर दें यह कार्

Bihar Board Class 12th Hindi Book Solutions गद्य Chapter 5

Bihar Board Class 12th Hindi Book Solutions गद्य Chapter 5... Bihar Board Class 12th Hindi Book Solutions पद्य :-- 1.  कड़बक 2.  पद सूरदास 3.  पद तुलसीदास 4. छप्पय   5. कविप्त   6.  तुमुल कोलाहल कलह में   7.  पुत्र वियोग   8. उषा 10. अधिनायक   11. प्यारे नन्हें बेटे 12.  हार जित 13.  गांव का घर   ==> Visit youtube channel  ( kitabwala किताब वाला ) for Summary of Bseb hindi class 12  Bihar Board Class 12th Hindi Book Solutions गद्य Chapter 5  अभ्यास:--  प्रश्न 1. मालती के घर का वातावरण आपको कैसा लगा ? अपने शब्दों में लिखिए ।  उत्तर - मालती के घर का वातावरण बोझिल , नीरस तथा निर्जीव सा प्रतीत होता है । उनके घर के वातावरण में उल्लास , अपनेपन व प्रेम का भाव बिल्कुल भी नहीं था । घर में रहने वालों के जीवन में परिवर्तन नाम की कोई वस्तु न थी । घर के सभी सदस्य एक निश्चित ठरें पर आधारित जीवन जी रहे थे । प्रेम , सहानुभूति , कर्त्तव्यबोध जैसे भाव उनमें नहीं थे । मालती का जीवन उदासी व घुटन से भरा है । वह अपना सारा दिन काम करते हुए तथा हर घंटे समय देखते - देखते काट देत

Bihar Board Class 12th Hindi Book Solutions गद्य Chapter 4

Bihar Board Class 12th Hindi Book Solutions गद्य Chapter 4  अभ्यास:--    Bihar Board Class 12th Hindi Book Solutions गद्य Chapter 4  Bihar Board Class 12th Hindi Book Solutions पद्य :-- 1.  कड़बक 2.  पद सूरदास 3.  पद तुलसीदास 4. छप्पय   5. कविप्त   6.  तुमुल कोलाहल कलह में   7.  पुत्र वियोग   8. उषा 10. अधिनायक   11. प्यारे नन्हें बेटे 12.  हार जित 13.  गांव का घर Bihar Board Class 12th Hindi Book Solutions गद्य Chapter 4  प्रश्न 1. ' यदि संधि की वार्ता कुंती और गांधारी के बीच हुई होती , तो बहत संभव था कि महाभारत न मचता लेखक के इस कथन से क्या आप सहमत हैं ? अपना पक्ष रखें ।  उत्तर - में लेखक के इस विचार से काफी हद तक सहमत हूँ । हमारे समाज में नारी का सम्मान किया जाता है , मातारे पूजनीया होती हैं । पुरुष अपने कठोर स्वभाव के कारण अपने को ही सर्वाधिक महत्त्व देता है । किन्तु नारी में दया , ममता तथा कोमलता के गुण विद्यमान होते हैं अगर महाभारत के युद्ध से पूर्व हुई संधि वार्ता कुंती व गांधारी के मध्य होती तो यह संभव या कि वे अपने पुत्रों को समझा लेती तथा युद्ध की नौबत नहीं आने देती ।  प्

Bihar Board Class 12th Hindi Book Solutions गद्य Chapter 3

Bihar Board Class 12th Hindi Book Solutions गद्य Chapter 3 ... संपूर्ण क्रांति गद्य Chapter 3 ... अभ्यास :- प्रश्न 1. आंदोलन के नेतृत्व के संबंध में जयप्रकाश नारायण के क्या विचार थे , आंदोलन का नेतृत्व वे किस शर्त पर स्वीकार करते हैं ?  उत्तर - आंदोलन के नेतृत्व के संबंध में जयप्रकाश नारायण कहते हैं कि मुझे नाम के लिए नेता नहीं बनना है । में सबकी सलाह लूंगा , सबकी बात सुनूंगा । सबसे बातचीत करूँगा , बहस करूंगा , समझूगा तथा अधिक से अधिक बात करूंगा। आपकीबात स्वीकार, लेकिन फैसला मेरा होगा । आपको इस फैसले को मानना होगा । इसी तरह के नेतृत्वही महत रापत हो सकती है । अगर ऐसा नहीं होता है , सो आपस की बहसों में पता नहीं किया गिर जाएंगे और इस प्रतिमा का नतीजा प्रभावित करती है ।  प्रल 2. जयप्रकाश नारायण के पास जीवन और अमेरिका प्रवास का परिचय है । इस अवधि की कैन - सी बाते आपको प्रभावित करती है?  उत्तर - जयप्रकाश नारायण अपने मात्र जीवन से ही आयल दर्जे के विद्यार्थी थे । 1971 में पटना कॉलेज में आई.मरा , सी . के विद्यार्थी थे । अपने मात्र जीवन में गांधी जी के विचारों से प्रभावित होकर उन्होंने असह

Bihar Board Class 12th Bihar Board Class 12th Hindi Book Solutions गद्य Chapter 2 | उसने कहा था

 Bihar Board Class 12th Hindi Book Solutions गद्य Chapter 2 | उसने कहा था अभ्यास :- प्रश्न 1.उसने कहा था कहानी कितने भागों में बेटी हुई है ? कहानी के कितने भागों में युद्ध का वर्णन है ।  उत्तर - उसने कहा था कहानी पाँच भागों में बेटी हुई है इसके तीन भागों में युद्ध का वर्णन किया गया है ।   प्रश्न 2. कहानी के पात्रों की एक सूची तैयार करें ।  उत्तर - पात्र का नाम 1 . सूबेदारनी --- सूबेदार हजारासिंह की पत्नी  2. लहना सिंह --- सिख राइफल्स जमादार   3.हजारा सिंह --- सूबेदारिनी का पति तथा फौजी  4.वजीरा सिंह--- पलटन का विदूषक -- 5 . बोधा सिंह --- सूबेदार का बेटा तथा फौजी  6. कीरत सिंह -- फौजी  7. महा सिंह--- फौजी  8. लपटन साहब --- फौजी  9. अतर सिंह --- सूबेदारिनी का मामा  प्रश्न 3. लहनासिंह का परिचय अपने शब्दों में दें ।  उत्तर - लहनासिंह एक फौजी है । वह कहानी का प्रमुख पात्र तथा नायक है । कहानी में उसका चरित्र पूरी तरह उभर कर आया है । कहानी में उसके चरित्र कुछ विशेषताएँ प्रमुखतया नजर आती हैं जो इस प्रकार हैं  1. कहानी का नायक - कहानी का संपूर्ण घटनाक्रम लहनासिंह

Bihar Board Class 12th Hindi Book Solutions गद्य Chapter 1 | बातचीत

 Bihar Board Class 12th Hindi Book Solutions गद्य Chapter 1 | बातचीत बातचीत शीर्षक निबंध आधुनिक काल के प्रसिद्ध निबंधकार बालकृष्ण भट्ट द्वारा लिखा गया है। जिसमें वाक-शक्ति को लेखक ने ईश्वर का वरदान बताया है। बालकृष्ण जी कहते हैं कि बाक-शक्ति अगर मनुष्य में ना होती तो ना जाने इस गूंगी सृष्टि का क्या हाल होता। वे कहते हैं कि बातचीत में वक्ता को स्पीच की तरह नाच-खराज जाहिर करने का मौका नहीं दिया जाता है। Bihar Board Class 12th Hindi Book Solutions गद्य :---- 1.  बातचीत 2.  उसने कहा था     3.  संपूर्ण क्रांति 4.  अर्धनारीश्वर 5.  रोज 6.  एक लेख एक पत्र 7.  ओ सदारिना Bihar Board Class 12th Hindi Book Solutions गद्य Chapter 1 अभ्यास :--- प्रश्न 1. अगर हममें वाकशक्ति न होती , तो क्या होता ? उत्तर - वाशक्ति मनुष्य को सृष्टि की सबसे महत्वपूर्ण देन है । इसी वाकशक्ति की मदद से वह समाज में अपनी भावना को अभिव्यक्त करता है । उसकी इसी अभिव्यक्त वाशक्ति को भाषा कहते हैं । व्यक्ति समाज में रहता है ।  इसी कारण अन्य व्यक्तियों के साथ उसके पारस्परिक सम्बन्ध तथा कुछ जरूरत होती